This is nest of sunbird in the rose bush of my neighbour. If you enlarge the pic you can see it sitting in the next, her beak out. Madam rests in the nest and the partner perched on Amaltas branch just outside keeps a vigil. His frequent visits to nest with warm up my heart. He carries food and ensures her well being. New lives are on the way and bunches of Amaltas smile fondly.

गूंजने वाली हैं किलकारियां सनबर्ड के घर में।समेटे मातृत्व का दायित्व जच्चा रानी आराम फरमाती हैं घोसले में और मां और आने वाले जीवन की सुरक्षा, सुविधा का ख्याल रखने के कर्तव्य बोध के प्रति पूर्ण तया सजग, समर्पित पिता श्री कभी दाना पहुंचाते हैं घोसले तक, कभी समीप की अमलतास की डाल पर बैठ पहरा देते हैं। नवजीवन की आहटों को सुन खुद को रोक.नहीं पाया अमलतास और खिल उठी हैं अनगिनत मुस्कानें उसके चेहरे पर और इधर छज्जे पर हम अशीषते नहीं थकते इन्हें, आखिर ऐसे धूसर समय पटल पर रस रंग भरना किसी नियामत से कम है क्या!

25Sunder Iyer, Bina Gupta and 23 others23 CommentsLikeCommentShare

Advertisement